Home News Business

डीलर बाप-बेटे ने 51 क्विंटल राशन के गेहूं का किया गबन, दोनों सस्पेंड

Banswara
डीलर बाप-बेटे ने 51 क्विंटल राशन के गेहूं का किया गबन, दोनों सस्पेंड
@HelloBanswara - Banswara -

खाद्य विभाग को केंद्र से मिलने वाले गेंहूं में घोटाले का मामला सामने आया है। जिले के देवगढ़ ग्राम पंचायत में मांगीलाल और उनके पुत्र धनपाल को विभाग ने 3 दुकानें आवंटित कर रखी है। जिसमें दोनों बाप-बेटे ने केंद्र से जरूरतमंदों को दिए जाने वाले दिसंबर 2021 के 51 क्विंटल गेहूं का गबन कर लिया।
जहां धनपाल डीलर के यहां 908 किलोग्राम गेहूं स्टॉक में ही कम मिला और 450 किलोग्राम उपभोक्ताओं को नहीं दिया, वहीं मांगीलाल के यहां 3748 किलोग्राम गेहूं उपभोक्ताओं को वितरण नहीं किया। विभाग की टीम ने 23 से ज्यादा राशन कार्डों की जांच में सामने आया यह कि दोनों ने ना तो राशन कार्ड में एंट्री की, ना ही उपभोक्ताओं को वितरण किया। जिसके बाद मांगीलाल और उनके पुत्र धनपाल को विभाग ने निलंबित कर दिया है। साथ ही आगे मुकदमा दर्ज करने की तैयारी की जा रही है। जिला रसद अधिकारी हजारीलाल आलोरिया ने बताया को दोनों डीलर को नोटिस भी दे दिया है, जिसके बाद रिकवरी के साथ मामला भी दर्ज करवाया जाएगा। डीलर ने उपभोक्ताओं से एक ही समय में दो बार अंगूठा लगवाया, लेकिन वितरण केवल राज्य से मिलने वाले गेहूं का ही वितरण किया, बाकी केंद्र से मिलने वाले गेहूं खुद उठा लिया। यानी केंद्र से मिला अतिरिक्त गेहूं का वितरण केवल कागजों में ही कर दिया।

उपभोक्ताओं ने ऑनलाइन देखा तो चौंक गए
खाद्य सुरक्षा योजना में जुड़े हुए लोगों को जब भनक लगी की। उनको आंवटन पूरा नहीं किया गया है। तब उपभोक्ता ई-मित्र की दुकान पर जाकर अपने अपने राशन कार्ड में गेहूं वितरण की जानकारी निकाली तो चौंक गए। उपभोक्ताओं ने बताया कि हकीकत में मिला केवल राज्य से मिलने वाला गेहू‌ं, जबकि ऑऩलाइन में दो बार गेहूं देना बताया। सभी के राशन कार्ड में राज्य और केंद्र से मिलने वाले अतिरिक्त गेहूं लेने की जानकारी थी, लेकिन उनका तो पूरा गेहूं मिला भी नहीं। यानी राशन डीलर के दोनों दुकानों पर वितरण नहीं किया। जिसके बाद रसद विभाग के यहां शिकायत की गई। जिसके बाद प्रवर्तक निरीक्षक विनोद कुमार और धर्मेंद्र रोत ने इस मामले की जांच की।


राशन डीलर ने इस तरह किया गबन
मुखिया-कैलाश
राशन कार्ड 009912000043
निवासी: ग्राम पंचायत देवगढ़ (बखतपुरा) 23-12-2021
पंच समय- 3.02 दोनों के एक समय दिया 30 किलो, निकाला 60 किलो

मुखिया-नारजी
राशन कार्ड 009912400097
निवासी-खरवाली
25-12-2021 समय-1.52 बजे, एक जैसा समय मिला- 35, निकाला 50 किलो


मुखिया-बबली
राशन कार्ड- 009909400106
निवासी-लोधा जागीर
29-12-2021 समय-1.08 बजे, एक जैसा समय मिला- 15 किलो, निकाला 30 किलो


मुखिया-भोगजी
राशन कार्ड-009912100149
निवासी-देवगढ़
22-12-2021 समय-4.13 बजे, एक जैसा समय मिला-15 किलो, निकाला 30 किलो


मुखिया-रकमचंद
राशन कार्ड
009912400105
निवासी
खरवाली
23-12-2021
पंच समय-2.30, एक जैसा समय मिला- 20, निकाला 40 किलो


मुखिया-नारायण
राशन कार्ड 009912100150
निवासी-देवगढ़
22-12-2021
पंच समय-4.14 एक ही समय मिला-20 किलो, निकाला 40 किलो


मुखिया- गौतम
राशन कार्ड
009912100130
निवासी
देवगढ़
29-12-2021
पंच समय-1.09 दोनों एक समय मिला- 35 किलो, निकाला 65 किलो



मृतकों के नाम से उठ रहे गेहूं को लेकर जांच शुरू
{मणि को 6 साल से ज्यादा और कमला बाई की 1 साल पहले ही मौत के बाद भी उठा जा रहे गेहूं के खुलासे के बाद अब रसद विभाग ने जांच शुरू कर दी है। रसद अधिकारी हजारीलाल आलोरिया ने बताया कि ये दोनों ही ऑनलाइन जांच में पता चला है कि आधार कार्ड से गेहूं उठा है। जिसको लेकर जांच शुरू कर दी है। जिसमें अगर डीलर दोषी पाया जाएगा या उपभोक्ता दोषी होगा तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। दरअसल भास्कर ने मणि और कमला बाई के मौत के बाद 30 क्विंटल गेहूं उठ गया और लगातार हर महीने राशन उठ रहा है। जिसका खुलासा किया था

सवाल : एक परिवार को 3 दुकानें कैसे दे दी : राशन डीलर मांगीलाल पिता कालिया को खाद्य विभाग की भी मेहरबानी भी सामने आ रही है। विभाग ने एक ही परिवार को 3 उचित मूल्य की दुकान आंवटन कर रखा था। देवगढ़ ग्राम पंचायत में दो दुकानें है जिसमें भाग संख्या 1 देवगढ़, भाग संख्या दो और उसके अलावा नया टापरा पंचायत में भी दुकान है। मांगीलाल को एक स्थाई दुकान आवंटन कर रखी है, साथ ही एक अस्थाई दुकान, उसके अलावा मांगीलाल के पुत्र धनपाल पिता मांगीलाल को भी दुकान आवंटन कर रखी थी।

FunFestival2024
शेयर करे

More news

Search
×