Home News Business

6 महीने पहले बहा युवक कल सुबह मिला, कागज के टुकड़े से पहचान हुई

Banswara
6 महीने पहले बहा युवक कल सुबह मिला, कागज के टुकड़े से पहचान हुई
@HelloBanswara - Banswara -

कागज के टुकड़े से पता चला कंकाल 6 महीने पहले बह गए फूलचंद का था

पेंट, चप्पल से परिजनों ने पहचाना, फेफर में रपट पार करते समय बाइक समेत बहा था, पर्स में मिले कागज पर लिखा था- साले काे 5 हजार उधार दिए

 

साले ने अाकर बात सही बताई ताे परिजन पूरी तरह आश्वस्त हुए
दानपुर थाना इलाके के केलियापाड़ा फेफर में 6 महीने पहले रपट पार करते समय नदी में बाइक समेत बह गए खाेरापाड़ा निवासी 26 वर्षीय फूलचंद पुत्र नागजी पारगी का कंकाल शनिवार काे पानी उतरने पर मिला। कंकाल का ज्यादातर हिस्सा खुर्दबुर्द हाे चुका था, लेकिन पैंट, चप्पल अाैर पेंट में मिले पर्स के एक कागज के टुकड़े से मृतक की शिनाख्त हाे पाई। इस पर हड्डियों काे बाेरे में समेटकर पोस्टमार्टम करवाया गया। कंकाल की पहचान वैसे ताे परिजनों ने उसके पास मिले पेंट अाैर चप्पल से कर ली थी। लेकिन पुलिस अाैर परिजन पूरी तरह आश्वस्त तब हुए जब मृतक की पेंट से मिले पर्स में एक कागज का टुकड़ा मिला। जिस पर लिखा था कि उसने अपने साले काे हादसे से चार दिन पहले यानि 18 अगस्त काे 5 हजार रुपए उधार दिए थे। इस पर जब साले काे बुलाया गया ताे साले ने इस बात काे कबूला। जिसके बाद परिजनों ने कंकाल काे अंतिम संस्कार किया।


थानाधिकारी भगवतीलाल ने बताया कि 22 अगस्त काे फेफर में रपट पार करते समय नदी में बहाव तेज हाेने पर फूलचंद बाइक समेत बह गया था। काफी तलाश करने पर भी फूलचंद का शव नहीं मिला था। एक महीने बाद घटनास्थल से करीब डेढ़ किमी दूर उसकी बाइक नदी में मिट्टी में दबी हुई मिली थी। शुक्रवार सुबह सूचना मिली कि खाेरापाड़ा अाैर अदुरकापाड़ा की सीमा पर एक कंकाल मिला है। सूचना पर मौके पर जाकर देखा तो कंकाल खुर्दबुर्द हाे चुका था। पेंट की तलाशी में एक प्लास्टिक का पर्स मिला। जिसमें कागज की पर्ची भीगी हुई अाैर फटने की स्थिति में थी। उसे धूप में सुखाया। जिसके बाद उसे खाेला ताे उसमें लिखा था कि मृतक ने 18 अगस्त काे साले काे 5 हजार उधार दिए। संदेह के अाधार पर फूलचंद के परिजनों काे भी बुलाया गया और शिनाख्त हुई।

Ground Water
शेयर करे

More news

Search
×