Home News Business Covid-19

व्यापारी पर फायर कर 7 लाख लुटे

Banswara
व्यापारी पर फायर कर 7 लाख लुटे
@HelloBanswara -

शहर के इंडस्ट्रीयल एरिया ठीकरिया में रविवार सुबह 8.30 बजे एक अनाज व्यापारी के साथ लूट की वारदात हुई। शहर के सुभाषनगर निवासी यशवंत दोसी उर्फ नानूभाई को अनाज फैक्ट्री के पास ही बाइक सवार दो बदमाशों ने रास्ते में रोका और पिस्तौल तानकर करीब 6 से 7 लाख रुपए से भरा बैग लेकर भाग गए। बुजुर्ग व्यापारी ने बदमाशों से संघर्ष भी किया, लेकिन फिर भी रुपयों से भरा बैग नहीं बचा पाया। सरेआम व्यापारी से हुई लूट की खबर शहर में फैलते ही पुलिस भी हरकत में आ गई और शहर में चारों ओर नाकाबंदी करा दी, लेकिन इसके बावजूद बदमाशों का कोई पता नहीं चल पाया। बाद में पीड़ित व्यापारी सुभाष नगर निवासी यशवंत दोसी उर्फ नानू भाई ने कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई। लेकिन व्यापारी ने रिपोर्ट में 2.80 लाख रुपए की लूट बताई है। व्यापारी नानू भाई रोजाना की तरह सुबह 8 बजे स्कूटी पर सुभाष नगर अपने घर से ठीकरिया इंडस्ट्रीयल एरिया में स्थित अनाज फैक्ट्री के लिए निकले। 6 लाख रुपयों से भरा बैग स्कूटी में बीच में रखा था। ठीकरिया में उनकी फैक्ट्री से 100 मीटर की दूरी पर काले रंग की बाइक पर सवार दो बदमाशों ने उनका पीछा किया। बदमाशों ने ओवरटेक कर बाइक को नानूभाई की स्कूटी के आगे खड़ी कर दी। इससे पहले कि व्यापारी कुछ समझ पाता बाइक पर आगे बैठे युवक ने बैग छीनने की कोशिश की। इस पर पीछे बैठे युवक पर व्यापारी नानू भाई विरोध करते हुए टूट पड़े। इससे उनकी स्कूटी भी गिर गई, लेकिन आगे वाले युवक ने एकाएक पिस्तौल निकालकर हवाई फायर किया और फिर नानूभाई की छाती पर पिस्तौल तान दी। बदमाशों ने रुपयों से भरा बैग नहीं देने पर गोली चलाने की धमकी दी तो नानूभाई घबरा गए। इतने में बदमाश बैग लेकर भाग गए।

लिस को लूट में परिचित पर आशंका, फैक्ट्री के 15 मजदूरों की सूची लीलूट को पूरी तरह रैकी कर और प्लानिंग के साथ अंजाम दिया गया है। लुटेरे ने ठीकरिया से ही पीछा किया और इतने आश्वस्त थे कि उन्होंने बैग लूटने के लिए हवाई फायर तक की। ऐसे में लुटेरों को पहले से पता था कि व्यापारी के पास रुपए हैं। ऐसी ही वारदात चाल साल पहले शहर की गैस एजेंसी के एक मुनीम के साथ भी हुई थी। जिसे एजेंसी में ही काम कर चुके युवक ने पिस्तौल दिखाकर मुनीम से 4.30 लाख रुपए लूट लिए थे। वहीं पिछले साल कस्टम चौराहे के पास एक ज्वैलरी शोरुम में भी चोरी हाे गई थी। जहां से भी बेशकीमती जेवर चुरा लिए गए थे। उस केस में भी पुलिस ने शोरुम में काम करने वाले एक युवक को ही गिरफ्तार किया था। चूंकि, इस केस में भी मौका हालत से किसी जानकार का हाथ होने की आशंका है। ऐसे में पुलिस ने व्यापारी की फैक्ट्री में काम करने वाले 15 मजदूरी की सूची ली है। जिनमें काम कर रहे और कुछ समय पहले छोड़ चुके मजदूर भी शामिल हैं।

संघर्ष करता, लेकिन मुझ पर पिस्तौल तान दी - महज 2 से 3 मिनट में सब कुछ हो गया। मैं चिल्लाया लेकिन उस वक्त कोई आसपास मौजूद नहीं था। शायद बदमाश भी इसी जगह वारदात करने का इंतजार कर रहे थे। इसलिए मेरा पीछाकर करते हुए भी मुख्य मार्ग पर कुछ नहीं किया। एक लंबा था और एक की कद काठी काफी छोटी थी। मैंने छोटे वाले से संघर्ष किया लेकिन फायर कर पिस्तौल मेरे ऊपर तान दी। इस कारण मैं कुछ नहीं कर सका। बैग में रुपयों के अलावा कागजात और चैक बुक भी थी।पीड़ित व्यापारी यशवंत दाेसी।

पुलिस की साख पर सवाल - बांसवाड़ा में दिनदहाड़े हो रही बड़ी वारदातों ने बढ़ाई चिंताजिले में पिछले कुछ महीनों में ज्यादती, चोरी और लूट की बड़ी वारदातें कर अपराधी कानून व्यवस्था को चुनौती देते नजर आ रहे हैं। आए दिन हो रही इन घटनाओं से ऐसा लग रहा है कि मानो पुलिस इन घटनाओं को रोकने में पूरी तरह से फेल साबित हो रही है। जिस कारण अपराधियों के हौसले दिन ब दिन बुलंद होते जा रहे हैं। कभी लाखों की लूट हो जाती है तो कभी भरे बाजार चेन स्नेचिंग। चोरियां तो जैसे आम बात हो चुकी है। महिला और बालिकाओं से ज्यादती की घटनाओं से जिले का नाम पूरे राजय में बदनाम हो रहा है। चिंता इसलिए भी बढ़ रही है क्योंकि हाल ही में हुई आनंदपुरी में 5 साल की मासूम के गुनहगार अब तक आजाद घूम रहे हैं। बीते दिनों कुशलगढ़ में बैंक से 10 लाख की बड़ी चोरी का भी खुलासा अब तक नहीं हो पाया है। इतने में शहर में एक व्यापारी से सरेआम लाखों की लूट हो गई। हालांकि शहर पुलिस के अंतरराज्यीय नकबजन गिरोह को पकड़ने का दवा किया है लेकिन उनके सभी कोई बरामदगी नहीं कर पाई है।बांसवाड़ा. व्यापारी से लूट के बाद घटनास्थल पर कई व्यापारी एकत्रित हो गए।

पुलिस ने नाकाबंदी कराई, सीसीटीवी में दिखे आरोपी - लूट की खबर मिलने पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। बाइक सवारों के वारदात को अंजाम देने पर शहर में नाकाबंदी कराई लेकिन बदमाशों का कोई पता नहीं चल पाया। इसी बीच वारदात वाली जगह से जिस रास्ते बदमाश भागे उस रास्ते पर पुलिस ने पड़ताल की तो एक जगह लगे सीसीटीवी में बदमाश नजर आए लेकिन उनका हुलिया साफ नजर नहीं आ रहा है। फुटेज से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि बाइक की नंबर प्लेट भी नहीं लगी थी। पिस्तौल के दम पर इस तरह लूट की वारदात होने पर व्यापारी वर्ग ने भी नाराजगी जताई है।सीसीटीवी में दिखे लुटेरे, बाइक पर नंबर भी नहीं थे।

Hellobanswara Ba
शेयर करे

More news

Search
×