Home News Business

उदयपुर में तालिबानी मर्डर का पाक कनेक्शन : पुलिस ने 170 किमी पीछा कर दबोचा; लात-घूंसों से पीटा

Udaipur
उदयपुर में तालिबानी मर्डर का पाक कनेक्शन : पुलिस ने 170 किमी पीछा कर दबोचा; लात-घूंसों से पीटा
@HelloBanswara - Udaipur -

उदयपुर में तालिबानी मर्डर का तार पाकिस्तान से जुड़ रहा है। NIA (नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी) ने 8 से 10 मोबाइल नंबर ट्रेस किए हैं। इनकी लोकेशन पाकिस्तान से लेकर भारत में आ रही है। इन्हीं नंबरों पर रियाज जब्बार और गौस मोहम्मद की लगातार बातचीत भी हो रही थी। इस इनपुट ने खुफिया तंत्र के कान खड़े कर दिए हैं।

आका ने पाकिस्तान बुलाया
गृह राज्यमंत्री ने भी इस मामले काे लेकर खुलासा किया है कि दोनों पाकिस्तान और अरब देशों के लोगों से कॉन्टैक्ट में थे। इनके मोबाइल में पाकिस्तान और अरब देशों के नंबर मिले हैं। रियाज और गौस की पाकिस्तान के नंबरों पर खूब बातचीत होती थी। राज्यमंत्री ने इनके कराची में ट्रेनिंग का भी दावा किया है। बताया गया कि 2014-15 में करीब 15 दिन की ट्रेनिंग ली थी। पाकिस्तान के आका के बुलावे पर दोनों वहां गए थे।

फैला रहे थे नफरत की आग
मंगलवार को उदयपुर में हुए कन्हैलाल की हत्या के बाद राजस्थान पुलिस के साथ ही खुफिया एजेंसियों में खलबली मच गई थी। जिस अंदाज में कन्हैयालाल को मारा गया, वह तालिबानी तरीका था। इसके बाद सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर आरोपियों ने अपने मंसूबे साफ कर दिए। NIA की जांच में गौस और रियाज के पाकिस्तानी कनेक्शन के पुख्ता सबूत मिले हैं। इन दोनों ने कराची से लौटने के बाद उदयपुर में युवाओं को भड़काना शुरू कर दिया था। उनके मन में नफरत की आग को भड़का रहे थे। यह भी जानकारी सामने आई है कि दोनों दावत-ए-इस्लाम नाम के पाकिस्तानी संगठन से जुड़े हैं।

कारीगर से पूछताछ
NIA टीम ने उदयपुर में कन्हैयालाल के कारीगर राजकुमार से भी पूछताछ की। उनके घर और दुकान पर भी टीम गई और पूछताछ की है।

कर रहे थे ब्रेन वॉश
पाकिस्तान में कराची के एक मौलाना के संपर्क में रियाज था। यह भी आशंका जताई जा रही है कि कन्हैयालाल का मर्डर पूरी तरह से प्री-प्लान्ड था। दोनों मिलकर दहशत फैलाना चाहते थे। कराची से लौटने के बाद रियाज और गौस मौहम्मद ने वॉट्सएप ग्रुप बनाए थे। ग्रुप के जरिए ही रियाज भड़काऊ वीडियो भेज कर ब्रेन वॉश कर रहा था। दोनों ने मिलकर उदयपुर और आसपास के इलाकों में कट्‌टर समर्थक तैयार कर रहे थे। बड़ी संख्या में इन लोगों ने युवाओं को जोड़ा भी था।


दोनों बाइक से भाग रहे थे, पुलिस ने 170 किमी पीछा कर दबोचा; लात-घूंसों से पीटा

उदयपुर में तालिबानी तरीके से टेलर की हत्या करने वाले आरोपी गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार 170 किमी दूर राजसमंद जिले के भीम इलाके से पकड़े गए। इन हत्यारों के पकड़े जाने का घटनाक्रम भी नाटकीय रहा। दोनों ने भागने की पूरी कोशिश की, लेकिन आखिरकार पुलिस के बिछाए जाल में फंस गए। हत्यारों के पकड़े जाने का एक वीडियो में भी सामने आया है। आरोपियों के हत्थे चढ़ते ही पुलिस ने उन्हें जमकर पीटा।

जानिए, कैसे पकड़े गए हत्यारे

  • हत्याकांड के बाद उदयपुर और आसपास की पुलिस सक्रिय हो गई थी।
  • ​राजसमंद पुलिस को जानकारी मिली थी कि दोनों आरोपी भीम-देवगढ़ इलाके की तरफ बाइक से भागे हैं। इस पर इनकी लोकेशन ट्रेस की गई।
  • नेशनल हाईवे-8 पर भीम में बने डाक बंगले के बाहर नाकाबंदी की गई।
  • यहां पुलिस को देखते ही दोनों भीम कस्बे में घुस गए थे। मोटरसाइकिल सवार आरोपी कस्बे में होकर भाग निकले और बदनौर चौराहा होते हुए कॉलेज के सामने हाईवे पर आ गए।
  • यहां से अजमेर की तरफ जाने लगे।
  • इस पर भीम-देवगढ़ पुलिस ने आरोपियों का पीछा करते हुए जस्सा खेड़ा के पहले शाम साढ़े 6 बजे आड़ावाला मोड़ पर दोनों को धर दबोचा।।

बाइक पर उदयपुर से राजसमंद पहुंचे
दोनों के राजसमंद के पास होने का इनपुट मिलते ही राजसमंद SP उदयपुर से बाइक पर हेलमेट लगाकर खुद निकले और राजसमंद के भीम-देवगढ़ इलाके में पहुंचे थे। उदयपुर और आसपास के जिलों की पुलिस वारदात के बाद से ही एक्टिव थी। इन इलाकों में कड़ी नाकाबंदी की गई। पुलिस की दस टीमें आरोपियों का पीछा कर रही थी।

इस दौरान गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार पुलिस को देखकर भागने लगे तो दोनों को सड़क पर ही दबोच लिया गया। पुलिस ने दोनों को सड़क पर ही लात-घूंसों और डंडों से जमकर पीटा। फिर बाल पकड़कर गाड़ी में डाल दिया।

राजसमंद जिले के भीम इलाके से पकड़े गए आरोपी रियाज और गौस मोहम्मद। दोनों बाइक से भागने की फिराक में थे।
राजसमंद जिले के भीम इलाके से पकड़े गए आरोपी रियाज और गौस मोहम्मद। दोनों बाइक से भागने की फिराक में थे।

आधी रात 500 की भीड़ ने थाना घेरा, अज्ञात जगह ले गई पुलिस
राजसमंद पुलिस करीब रात 8 बजे दोनों को भीम थाने लेकर पहुंची। इससे पहले जैसे ही लोगों को इसकी जानकारी मिली काफी संख्या में भीड़ थाने के बाहर जुट गई। भड़के लोग नारेबाजी करने लगे। भीड़ डिमांड करने लगी कि आरोपियों को हमारे हवाले कर दो। इस पर एक बार तो पुलिस ने भीड़ को खदेड़ा, लेकिन माहौल बिगड़ते देख पुलिस के भी हाथ-पैर फूल गए। बताया जा रहा है कि इसके बाद पुलिस आरोपियों को अज्ञात जगह ले गई।

आरोपियों के पकड़े जाने की खबर मिलते ही भीम थाने के बाहर लोग जुटने लगे थे। भीड़ डिमांड करने लगी कि आरोपियों को हमें सौंप दो।


आरोपी गौर मोहम्मद व रियाज हेलमेट लगाकर उदयपुर से निकले थे।
आरोपी गौर मोहम्मद व रियाज हेलमेट लगाकर उदयपुर से निकले थे।

SIT का गठन, टीम करेगी जांच
मामला बिगड़ते देख प्रदेश में इंटरनेट सेवा बंद कर दी है। वहीं, जयपुर से भी दो बड़े पुलिस अधिकारियों को उदयपुर के लिए रवाना कर दिया था। इधर, मामले की जांच के लिए देर रात SIT का गठन किया गया है। टीम में ATS-SOG ADG अशोक राठौड़, ATS IG प्रफुल्ल कुमार एवं एक SP और ASP शामिल होंगे।

मंगलवार देर रात राजसमंद के भीम थाने के बाहर सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट गई।
मंगलवार देर रात राजसमंद के भीम थाने के बाहर सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट गई।
Ground Water
शेयर करे

More news

Search
×