Home News Business Covid-19

(माॅकड्रील) 40 सवारियों से भरी बस गैमन पुल से गिरी, बचाने के लिए आपात टीम के पास माेटर बाेट नहीं मिली

Banswara
(माॅकड्रील) 40 सवारियों से भरी बस गैमन पुल से गिरी, बचाने के लिए आपात टीम के पास माेटर बाेट नहीं मिली
@HelloBanswara - Banswara -

कंट्राेल रूम से शुक्रवार सुबह गेमन पुल में 40 सवारियों से भरी बस के गिरने की खबर ने प्रशासन अाैर पुलिस महकमे में अफरा-तफरी मचा दी। सूचना मिलते ही संबंधित विभाग के अधिकारी अपनी-अपनी टीमाें अाैर माैजूदा संसाधनों के साथ गेमन पुल की अाेर निकल पड़े। लेकिन, वहां पहुंचने पर जब पता चला कि यह महज आन्तरिक सुरक्षा अभ्यास (माॅकड्रील) था ताे इस पर सभी ने राहत महसूस की। हालांकि, इस दाैरान सिविल डिफेंस के पास रेस्क्यू के लिए बाेट नहीं हाेने की भी जानकारी सामने अाई। एसपी कावेंद्रसिंह सागर ने जब रेस्क्यू करने वाली टीम से पूछा कि वह नदी में गिरी बस तक कैसे जाएंगे ताे बताया कि उनके पास काेई अाधुनिक बाेट नहीं है। वह रस्सी अाैर माैजूदा ट्यूब के जरिये नदी में उतरेंगे। माैके पर स्थानीय बाेट भी काफी देरी तक नहीं मुहैया नहीं हाे पाई। प्रशासन की अाेर से किन-किन विभागाें काे कब सूचना दी गई अाैर जिम्मेदार कब घटना स्थल पर पहुंचे, क्या कमियां पाई गई इसे लेकर मीडिया काे काेई जानकारी साझा नहीं की गई। इससे यह साफ नहीं हाे पाया कि इतनी बड़ी घटना की सूचना पर किस विभाग ने गंभीरता दिखाई अाैर माैके पर क्या कमियां पाई गई। एकाएक गेमन पुल पर रेस्क्यू टीम, एंबुलेंस अाैर पुलिस काे देखकर ग्रामीण भी इकट्ठा हाे गए। इस दाैरान विभागाें की उपस्थिति अाैर रेस्क्यू अाॅपरेशन की माॅनिटरिंग के लिए कलेक्टर अंकित कुमारसिंह, एसपी कावेंद्रसिंह सागर, एडीएम नरेश बुनकर, डिप्टी गजेंद्रसिंह सहित प्रशासन अाैर पुलिस अधिकारी माैजूद रहे।
बांसवाड़ा. मॉकड्रील के दौरान लाइफ जैकेट लेकर यात्रियों को ढूंढने जाते आपात टीम के सदस्य।
बांसवाड़ा. मॉकड्रील में कौन सा अधिकारी देरी से पहुंचा, देखते एसपी।

शेयर करे

More news

Search
×