Home News NewElection Business

लाखों खर्च हुवे पर अभी तक कोई समाधान नहीं निकाला

Banswara
लाखों खर्च हुवे पर अभी तक कोई समाधान नहीं निकाला
@hellobanswara -
Dream Big School

कहने को तो हम कहते है कि बाँसवाड़ा शहर मतलब पानी की कमी, जिस रास्ते जाए वहां तालाब पानी से भरा मिलता है, शहर के अन्दर भी बहुत से तालाब है, परन्तु समस्या यह है कि कोई भी तालाब साफ़ सुथरा नहीं है। इन्हें साफ़ करने के लिए लाखों खर्च हो जाते है पर अंत में परिणाम शुन्य ही होता है। और आज शहर के सभी तालाब की दशा यहीं है और सभी तालाब जलकुम्भी के घेरे में है तालाब तो दिखता ही नहीं है क्यूंकि पुरे में जलकुम्भी भरी है। और इसके लिए प्रसाशन समय समय एक बजट निकल कर इन्हें साफ़ भी करता है पर यह सिर्फ जनता का पैसा बरबाद होता ही प्रतीत होता है क्यूंकि सहीं कार्य नहीं होने से ये वापस आ  जाती है जिससे सफाई मात्र एक ओपचारिकता ही रह जाती है। इसके लिए सहीं तरह से दिशा निर्देश के आधार पर पूर्ण समाधान निकलना चाहिए नहीं तो ऐसे ही जनता के पैसे बरबाद होते रहेंगे और जो सोच उदयपुर डूंगरपुर बनाने की है वो सिर्फ हवा की बातें ही रह जायेगी।

शेयर करे

More news

Search
×