COVID-19
Home News Business Covid-19

मकान की 50 फीट लंबी बालकॉनी गिरी, 15 मिनट पहले इसी के नीचे खड़े थे कोचिंग के 50 विद्यार्थी

Banswara
मकान की 50 फीट लंबी बालकॉनी गिरी, 15 मिनट पहले इसी के नीचे खड़े थे कोचिंग के 50 विद्यार्थी
@hellobanswara -

सुभाष नगर में मंगलवार शाम करीब 7.15 बजे एक मकान की जर्जर बालकॉनी भरभराकर गिर पड़ी। हादसे से महज 15 मिनट पहले ही इसी बालकॉनी के नीचे कोचिंग से छूटे 50 विद्यार्थी अाैर उनके वाहन खड़े थे। गनीमत रही कि हादसे के वक्त भी मकान के आसपास से कोई नहीं गुजरा, जिससे कोई चपेट में नहीं आया। दोपहर डेढ़ बजे भी बालकॉनी का कुछ हिस्सा गिरा था, उस समय दाे महिलाएं हादसे बाल-बाल बची। बताया जा रहा है कि मकान की छत का काम कराने के बाद एक हिस्से में पानी भरा रहता था, जिससे की बालकॉनी कमजोर हो गई थी। सुभाष नगर के आवासीय मकान में कोचिंग चल रही है। इस सेंटर में 150 विद्यार्थी तीन अलग-अलग बैच में पढ़ाई कर रहे हैं।
मंगलवार को अंतिम 50 बच्चों का बैच शाम 7 बजे छूटा था और इसके 15 मिनट बाद ही अचानक मकान की छत की बालकॉनी का 70 में से 50 फीट का हिस्सा टूटकर गिर गया। जहां मलबा गिरा वहां बच्चे गाड़ियां पार्क करते हैं। मकान का एक हिस्सा अभी भी झुका हुआ है, जिससे की पड़ोस के मकान की चपेट में आने का खतरा बना हुआ है। इसी मकान की बालकॉनी का एक हिस्सा तीन दिन पहले भी गिरा था। हादसे के बाद लोगों ने मकान मालिक और नगर परिषद के खिलाफ भी आक्रोश जताया। पड़ाेसियों ने मकान मालिक छींच निवासी चंद्रशेखर आचार्य को फोन कर इस बारे में बात करनी चाही तो उन्होंने मेहमान होना बताकर इसे टाल दिया। लोगों ने उन्हें वीडियो बनाकर भेज दिया।
 

घर से 10 फीट की दूरी पर थी दो महिलाएं, अचानक मलबा आ गिरा

पड़ौसी जगदीश भट्‌ट ने बताया दोपहर डेढ़ बजे भी छत की बालकॉनी का हिस्सा गिरा था। इस दौरान भी कई लोग इकट्‌ठा हो गए थे। सब्जीवाली और प्लास्टिक के टब बेचने वाली वहां से गुजर रही थी। मुश्किल से मलबे और उनके बीच की दूरी 10 फीट की रही होगी। मकान मालिक अभी मेहसाणा में रहते है। मकान मालिक के यहां नहीं रहने के कारण कोई ध्यान नहीं दे रहा है। मकान में कोचिंग सेंटर चलाकर कॉमर्शियल इस्तेमाल किया जा रहा है। यहां क्लास चलती है, बच्चों की जान को खतरा बना हुआ है।
 

मकान का एक हिस्सा झुका हुआ, मेरे छोटे-छोटे बच्चे हंै, हमेशा डर लगा रहता है: पटेल

पड़ोसी पवन लाल पटेल ने बताया कि मकान मालिक चंद्रशेखर से 8 दिन पहले ही मरम्मत कराने को लेकर बात की थी, लेकिन उन्होंने इसे अनसुना कर दिया। आज यह हादसा हो गया। गनीमत रही कि कोई चपेट में नहीं आया। तीन दिन पहले भी कुछ मलबा गिरा था। जहां हादसा हुआ उसकी दूसरी तरफ मकान का एक हिस्सा झुका हुआ है। मेरे छोटे-छोटे बच्चे है। हमेशा डर बना रहता है। मकान मालिक जब रहते थे तब भी बालकॉनी गिरी हुई थी। कई बार कहा, लेकिन ध्यान ही नहीं दिया।
 

जिम्मेदारी समझनी चाहिए, नोटिस देंगे: सभापति
शहर में कई बिल्डिंग काफी पुरानी हैं। जिनसे हादसों का खतरा है। उनके मकान मालिकों को समझदारी दिखाते हुए मरम्मत करानी चाहिए। सुभाष नगर की घटना में लापरवाही रही है तो कार्रवाई की जाएगी। संबंधित सेंटर संचालक और मकान मालिक को नोटिस दिया जाएगा। जैनेंद्र त्रिवेदी, सभापति

शेयर करे

More news

Search
×