Home News NewElection Business

अधिकारी द्वारा थाने में एट्रोसिटी और राजकार्य में बाधा का प्रकरण दर्ज किए जाने के बादभाजपा नेता भूमिगत

Banswara
अधिकारी द्वारा थाने में एट्रोसिटी और राजकार्य में बाधा का प्रकरण दर्ज किए जाने के बादभाजपा नेता भूमिगत
@hellobanswara -
Pukaar Foundation

बीते दिनों घाटोल पंचायत समिति में टेंट के काम को लेकर विकास अधिकारी हरकेश मीणा और भाजपा नेता राजेंद्र पंचाल के बीच हुए विवाद अब राजनीतिक रूप में बदल गया है। जहां विकास अधिकारी द्वारा थाने में एट्रोसिटी और राजकार्य में बाधा का प्रकरण दर्ज किए जाने के बाद से पंचाल पुलिस गिरफ्तारी के डर से अपने बचाव में फरार हैं। वहीं अब उनके बचाव में भाजपा पार्टी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता उतर आए हैं। पार्टी ने बीडीओ हरकेश मीणा के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कलेक्टर को ज्ञापन दिया, साथ ही चेतावनी दी कि मीणा को एपीओ नहीं किया गया तो पार्टी आंदोलन करेगी। मंगलवार को घाटोल विधायक हरेंद्र निनामा, पूर्व मंत्री भवानी जोशी, पार्टी जिलाध्यक्ष गोविंद सिंह राव, जिला महामंत्री लालसिंह पाटीदार, पूंजीलाल लाल गायरी, पूर्व जिलाध्यक्ष भगवत पुरी, हकरू मईडा आदि बड़ी संख्या में पार्टी के कार्यकर्ता जिला कलेक्टर के पास पहुंचे। उन्होंने कहा कि पंचाल के खिलाफ झूठा मामला दर्ज कराया गया है। यह आदिवासी इलाका है, ऐसे में अधिकांश जनजाति अधिकारी ही लगे हैं। कोई भी व्यक्ति फरियाद लेकर अधिकारी के पास पहुंच सकता है। अगर किसी के भी खिलाफ जातिगत अपमान का मामला दर्ज करा दिया जाए तो कोई भी व्यक्ति सरकारी ऑफिस में जाने की हिम्मत नहीं कर पाएगा। पार्टी नेताओं ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देकर मीणा को घाटोल से हटाने की मांग रखी। कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने मामले की जांच करवाने का आश्वासन दिया और कहा कि उनकी मांग से राज्य सरकार को अवगत करा दिया जाएगा। विधायक निनामा ने कहा कि विकास अधिकारी मीणा का व्यवहार ठीक नहीं है और पुलिस रिपोर्ट में लगाए गए आरोप झूठे हैं। विकास अधिकारी मीणा को तत्काल प्रभाव से हटाया जाना चाहिए।

शेयर करे

More news

Search
×