Home News Business

बेणेश्वर धाम बना टापू

Banswara
बेणेश्वर धाम बना टापू
@HelloBanswara - Banswara -

तेज बारिश के चलते जन-जन की आस्था का केंद्र त्रिवेणी संगम बेणेश्वर धाम टापू बन गया। धाम के तीनाें पुल पर पानी की चादर चल रही है। बुधवार रात 12 बजे यह टापू में तब्दील हुआ है। वागड़ अंचल में पिछले 3 दिनों से तेज बारिश हो रही है। लाेग पुल पर चल रही चादर देखने के लिए पहुंचे। बेणेश्वर चौकी प्रभारी गजराज सिंह ने बताया कि बेणेश्वर व साबला पुल पर 4 फीट तो वही बेणेश्वर बांसवाड़ा पुल पर 5 फीट, बेणेश्वर वलाई पुल करीब 8 फीट पानी की चादर चल रही है। जानकारी के अनुसार बुधवार काे पूर्णिमा थी। इसलिए लोग त्रिवेणी संगम पर पूर्वजों की अस्थि विसर्जन करने के लिए आए थे। बेणेश्वर में दुकानदार पुजारी सहित करीबन 75 लोग धाम पर सुरक्षित हैं। वहीं साबला पुल के बाहर बैठ कर पंडित चिराग, नितेश, कल्पेश के सानिध्य में पूजा अर्चना की गई।


बेणेश्वधाम पर भी अासपास के गांव कस्बाें और शहराें के विप्रवर इस श्रावणी कर्म के लिए पहुंचते है, लेकिन इस बार नदी के पानी से धाम टापू में बदल गया। एेसे में जनेऊ बदलने का काम नदी के एक छाेर पर सड़क के किनारे खड़े रहकर संपन्न किया अभी धाम पर पूजा पाठ एवं अन्य कार्य करने वाले लोग तथा वहां पर दुकानें लगाकर बैठे व्यापारी फंसे हुए हैं। इससे पहले 2020 में जुलाई महीने में ही धाम टापू में तब्दील हो गया था तथा सीजन में तीन से चार बार धाम के तीनों पुलियों पर पानी आ गया था। वहीं साल 2021 में सीजन के अंतिम समय में बरसात तेज होने के चलते धाम टापू में बदला था। सेवादार डायालाल सेवक ने बताया कि धाम पर लोग फंसे हैं। धाम पर बिजली और राशन की सुविधा है। इधर, जिले में तेज और लगातार बारिश के कारण परतापुर, चिड़ियावासा सहित कई कस्बों में कच्चे केलूपोश मकान ढह गए। इसके अलावा कई रपट पर पानी आ गया। इससे आवागमन बाधित रहा।


मसोटिया के वार्ड-6 के पटेल मोहल्ले में भरा पानी
तलवाड़ा. पंचायत समिति तलवाड़ा की ग्राम पंचायत मसोटिया में विगत दो दिनों से हो रही बरसात के चलते क्षेत्र में पानी भरा है। यहां पानी की समूचित निकासी की व्यवस्था नहीं है। इसके चलते वार्ड 6 पटेल मोहल्ले के लोग परेशान हैं। यहां कोहाला जाने वाली मुख्य सडक पर पानी भरा है। कई बार समस्या से अवगत कराने के बावजूद इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि 2017 से यहां पानी निकासी की व्यवस्था की मांग कर रहे हैं।


बड़गांव में बरसात से कच्चा मकान गिरा, सुरपुर हनुमान मंदिर में घुसा बरसाती पानी
चिड़ियावासा| क्षेत्र में बारिश का दौर बना हुआ है। नदी-नाले उफान पर हैं। सड़कों पर पानी जमा है। बांसवाडा-घाटोल नेशनल हाइवे पर स्थित हनुमान मन्दिर में बरसाती पानी 20 से 30 फीट तक भर गया। इससे प्रतिमा भी पानी के बीच आ गई। ग्रामीणों ने बताया सड़क किनारे दोनों ओर नालों का निर्माण नहीं होने एवं मन्दिर का भाग निचला स्तर होने से पानी निकासी नहीं हो सकी। इसके कारण यहां पानी भर गया है। ग्रामीणों ने सार्वजनिक निर्माण विभाग से समस्या को ध्यान में रखते हुए नाला निर्माण की मांग की है। इधर, लगातार पानी के बढ़ते वेग और मन्दिर डूबने की आशंका पर ग्रामीणों की सूचना पर समाजसेवी हरीश कलाल ने जेसीबी भेज पानी की निकासी करवाई। वहीं बड़गांव गाव में बेवा जीव पत्नी मोतिया का मकान बीती रात तेज बारिश के कारण गिर गया। इस दौरान पीड़िता अपनी पोती सहित अंदर थी। जो, समय रहते बाहर निकल आए। हादसे में दीवार बाहर की तरफ गिरने से जनहानि नहीं हुई। दीवार के पास रखी सामग्री, धान, गेहूं , मक्का, खाद्यान्न सहित आवश्यक सामग्री मलबे में दब गई। परतापुर. बारिश के चलते परतापुर गढ़ी नगर पालिका के वार्ड एक में एक कच्चा मकान ढह गया। वार्ड चार के पार्षद अनवर अहमद मौके पर पहुंचे एवं पीड़ित फरीद खान को सरकार से सहयोग राशि दिलवाने तथा सहयोग का आश्वासन दिया।

Ground Water
शेयर करे

More news

Search
×