बिना टेंडर खुद की गाड़ियां लगा, राशि उठाई बीसीएमओ कुशलगढ़ के 2 अकाउंटेंट बर्खास्त

Updated on December 5, 2018 Govt Crime
बिना टेंडर खुद की गाड़ियां लगा, राशि उठाई बीसीएमओ कुशलगढ़ के 2 अकाउंटेंट बर्खास्त, Banswara "Vehicle without tender"

बांसवाड़ा कुशलगढ़ चिकित्सा विभाग ने कुशलगढ़ ब्लॉक कार्यालय और सीएचसी में कार्यरत दो अकाउंटेंट श्रवण कुमार गुर्जर और कजोड़मल वर्मा को वित्तीय गड़बड़ियों और अनियमितताओं के कारण नौकरी से बर्खास्त कर दिया है। संविदा पर कार्यरत दोनों पर यह कार्रवाई उनके खिलाफ मिली शिकायत की जांच के बाद की गई है। यह जांच सीएमएचओ स्तर पर की गई थी, जिसकी रिपोर्ट निदेशालय भेजे जाने पर हटाने के आदेश जारी हुए। कार्रवाई के संबंध में सीएमएचओ डॉ. पृथ्वीराज मीणा से बात की तो बताया कि इनके खिलाफ पहले शिकायत हुई थी। जिसमें सामने आया था कि इन दाेनों ने विभाग में अपनी गाड़ियां लगा रखी थी और भुगतान उठा रहे थे। इसे लेकर निदेशालय ने इन्हें हटाने के आदेश दिए हैं। 

ब्लॉक में भ्रष्टाचार और बीसीएमओ ने कहा-पता नहीं : इस मामले में बीसीएमओ डॉ. राजेंद्र उज्जैनिया से बात की तो उन्होंने ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि शिकायत सीएमएचओ में मिली थी और हटाने के आदेश भी वहीं से हुए हैं। ऐसे में विभाग की इस जांच और कार्रवाई पर भी संदेह है कि आखिर इतनी बड़ी गड़बड़ियां दो संविदा अकाउंटेंट ने बगैर बीसीएमओ की जानकारी के कैसे की। जबकि ब्लॉक के हर बिल पर बीसीएमओ के हस्ताक्षर होते हैं। 

इन अनियमितताओं की हुई थी शिकायत : कुशलगढ़ ब्लॉक में राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के लिए लगाई जाने वाली गाड़ियों में बिना टेंडर खुद की गाडिय़ां लगा रखी थी और भुगतान उठा रहे थे। अकाउंटेंट कजोड़मल वर्मा ने खुद के नाम की गाड़ी लगाई तो अकाउंटेंट श्रवण कुमार गुर्जर ने अपने भाई के नाम की गाड़ी खरीदकर विभाग में लगा रखी थी। इन वाहनों के नाम पर लाखों का भुगतान उठाया जा चुका है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इनका दखल आंगनबाड़ियों में होने वाली खरीदी पर भी था। जहां पर जरूरी सामान की खरीदी कुशलगढ़ में एक ही दुकान से की जाती थी। 

By Bhaskar



Leo College Banswara