होम ख़बरे विडिओ इवेंट्स

करोड़ो की ठगी करने वाला सन्नमती एसोसिएट चिटफण्ड कंपनी का मालिक संजय तोलावत गिरफ्तार

8 Jul 2019 08:17 am

विगत करीब ढाई वर्षो से फरार सन्नमती एसोसिएट खमेरा बांसवाड़ा  चिटफण्ड कंपनी का मालिक संजय तोलावत जैन निवासी खमेरा जो कि पुलिस के टॉप 10 की सूची में था अहमदाबाद से गिरफ्तार किया। कई  गरीबो के जो रोज ठेला गाड़ी रोहड़ी, मजदूर और सब्जी बेचने वाले लोग जो रोज 20, 50 रुपये बचत स्वरूप आर.डी. में बचत साख जमा करवाते थे उनको ब्याज और जमा करवाने के नाम पर सैंकड़ो लोगो के साथ इसने ठगी की और उनका करोड़ो रुपया लेकर फरार हो गया था।

उच्च वर्ग को शिकार उनसे कहता आप अपना पैसा दो में उसे जमीन, प्रॉपर्टी में इन्वेस्ट करूँगा और आपको 3 साल 4 साल अलग अलग रूप में लुभावनी स्कीम बताकर ठगी करता था। 

ठगने हेतु उसके रहने के तरीके मौज शोक उम्दा तरीके के थे महंगे कपड़े, चश्मे, गाड़ी और 3 जगह उसने आफिस डाल रखे थे।

बांसवाड़ा में मोहन कॉलोनी चोराहे पर सन्नमती एसोसिएट का भव्य आफिस और बाकायदा महिला रीसेप्सनिष्ट और सभी ऐशो आराम वाले भव्यता वाले ऑफिस को देखकर ही उसकी कंपनी में निवेश कर देते खमेरा में के गरीब लोगों को चेक, डायरी आजकल में पैसे देने का कहकर करोड़ो रूपये लेकर फरार हो गया था।

हमेशा पहले भी बांसवाड़ा में कंपनी खोलकर कई लोगो को ठगी का शिकार बना चुके है। आज जरूरत है ऐसे लोगों को सख्त कानूनी कार्यवाही करके उनके साथ जो भी लोग जुड़े हुए उन्हें बेनकाब करके और 3 पार्टनर और थे उन्हें भी गिरफ्तार करके सलाखों के पीछे भेजने की जरूरत है 

पहले एक अन्य कंपनी में एक मामूली सा एजेंट था फिर 2011, 12 में खुद की कंपनी 3 अन्य लोगो ने मिलकर शुरू की जिसका प्रधान कार्यालय बांसवाड़ा मोहन कॉलोनी चोराहे पर बनाया वहां से ठगी का खेल शुरू । 

एक अन्य फाइनेंस में भी इसने कुछ दिन मिलकर काम किया और जानकार कहते है कि वही से इसको लालच जागा और प्रेरणा मिली और उसने सन्नमत्ती एसोसिएट के नाम की चिटफण्ड कंपनी बनाई और खेल शुरू। 

जिला पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम के विशेष टीम गठन कर अनुसंधान में शामिल सदस्यों में आंजना जी ,नरपत सिंह ASI जया महिला सिपाही सीताराम,सोहन विश्नोई सभी ने गहनता से मेहनत की। 
सोहनलाल करीब 3 बार पूर्व में भी अहमदाबाद जाकर वेशभूषा बदलकर  उसकी बहन का पता लगाया और फिर स्पेशल शाखा क्राइम ब्रांच अहमदाबाद के सहयोग से उसकी बहन को सख्ती से पूछने पर उसने उसे सहयोग करना कबूला तब जाकर  पुलिस वहा तक पहुची और अहमदाबाद से धर दबोचा।

शेयर करे