फर्जी चिकित्सकों पर की कार्रवाई

Updated on June 15, 2019 Crime Health
फर्जी चिकित्सकों पर की कार्रवाई, Banswara "क्लिनिक संचालक प्रेमचंद अपने मरीज को पास की दर्जी की दुकान पर ड्रिप चढ़ाकर भाग निकला। "

Banswara June 15, 2019 - चिकित्सा विभाग ने झोलाछाप और फर्जी तरीके से इलाज करने वालों पर नकेल कसना शुरू कर दी है। विभाग कार्रवाई का यह क्रम नियमित जारी रखेगा। शुक्रवार को सीएमएचओ डॉ. हीरालाल ताबियार व दल ने तलवाड़ा और आंबापुरा क्षेत्र में दौरा कर निजी क्लिनिक पर जांच की। 
 

निरीक्षण के दौरान 25 क्लिनिक्स की जांच की गई। इनमें से केवल 5 क्लिनिक्स की ही जांच हो सकी शेष अन्य क्लिनिक्स से फर्जी चिकित्सक भाग निकले। आंबापुरा में एक क्लिनिक संचालक प्रेमचंद अपने मरीज को पास की दर्जी की दुकान पर ड्रिप चढ़ाकर भाग निकला। इसके बाद टीम ने ड्रिप उतारकर मरीज को राहत दी। सीएमएचओ डॉ. ताबियार ने मौजूद ग्रामीणों से सरकारी अस्पताल में ईलाज करवाने के लिए प्रोत्साहित किया। तलवाड़ा में आनंद अस्पताल, धवल अस्पताल में कागजात की जांच की। डॉ. ताबियार ने दो दिन में वहां काम कर रहे स्टाफ की डिग्री सहित रिपोर्ट तलब की है।  
आंबापुरा क्षेत्र में नर्सिंगकर्मियों द्वारा संचालित क्लिनिक में जांच की गई। होम्योपैथिक डॉक्टरों को एलोपैथिक दवाइयां किसी भी हाल में उपयोग नहीं करने के निर्देश दिए। सीएमएचओ ने एलोपैथिक दवाएं मिलने पर एफआईआर दर्ज करवाने की चेतावनी दी। आंबापुरा में बस स्टैंड और आसपास क्षेत्र में सीएमएचओ डॉ. ताबियार ने लोगों से बातचीत कर कहा कि फर्जी चिकित्सकों से दूर रहे और सरकारी अस्पतालों में इलाज करवाएं। 
लगातार चलेगा अभियान :
सीएमएचओ डॉ. हीरालाल ताबीयार ने जिले के समस्त बीसीएमएओ से क्षेत्र में निगरानी रखने के साथ ही झोलाछाप चिकित्सकों की जानकारी सात दिन में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए  है। फर्जी चिकित्सकों पर कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए है। डॉ. ताबियार ने बताया कि यदि हिदायत देने के बाद भी सुधार नहीं हुआ तो इन झोलाछाप चिकित्सकों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी। 



×
Hello Banswara Open in App