बाल अधिकार संरक्षण के लिए संवेदनशील होकर कार्य करें - कलक्टर

Updated on June 11, 2019 Other
बाल अधिकार संरक्षण के लिए संवेदनशील होकर कार्य करें - कलक्टर, Banswara "बाल अधिकारों के संरक्षण विषय पर शिक्षा और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की प्राथमिक जिम्मेदारी है ऐसे में पुलिस से पहले इन दोनों विभागों को सचेत होना होगा।"

Banswara June 11, 2019 - जिला कलक्टर आशीष गुप्ता ने कहा है कि बाल अधिकारों के संरक्षण विषय पर शिक्षा और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की प्राथमिक जिम्मेदारी है ऐसे में पुलिस से पहले इन दोनों विभागों को सचेत होना होगा। उन्होंने बाल अधिकार संरक्षण के लिए सभी को संवेदनशील होकर कार्य करने की आवश्यकता जताई।  
 

कलक्टर गुप्ता सोमवार को रिजर्व पुलिस लाईन सभागार में उदयपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक प्रफुल्ल कुमार निर्देशन में उदयपुर संभाग में संचालित कम्युनिटी पुलिसिंग टू बिल्ड अवेयरनेस एण्ड ट्रस्ट कार्यक्रम अर्न्तगत जिला स्तरीय कॉम्बेट कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।  
उन्होंने कहा कि बच्चों से संबंधित अपराधों की रोकथाम जरूरी है और इसके लिए गंभीरता से कार्य करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि स्कूलों में लगी शिकायत पेटी में एक चिट्ठी डल गई तो उसको अंजाम तक पहुंचाना होगा तभी बच्चों में प्रशासन और पुलिस के प्रति विश्वास जगेगा। उन्होंने जिले में इस तरह के कार्य प्रारंभ करने के लिए यूनिसेफ की भी सराहना की।  
 

कार्यशाला की अध्यक्षता करते हुए जिला पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने कहा कि बच्चों से संबंधित इस प्रकार के कार्यों को पुलिसकर्मी बोझ नहीं माने और इसे अपना दायित्व समझेंगे तो जल्द ही रिज़ल्ट आएगा। उन्होंने बाल संरक्षण के लिए प्रभावी रूप से कार्यवाही के लिए पुलिस अधिकारियों को नियमित समयांतराल में विद्यालय में जाने तथा बच्चों में पुलिस के प्रति विश्वास पैदा करने की जरूरत बताई। उन्होंने समस्त विभागों को इस कार्य में समन्वय स्थापित करते हुए कार्य करने को कहा। 
 

बैठक के प्रारम्भ में उदयपुर संभाग के बाल संरक्षण सलाहकार सिंधु बिनुजीत ने सभी प्रतिभागियों के परिचय सत्र का आयोजन करते हुए कार्यक्रम के उद्देश्यों के बारे में जानकारी दी। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपिन शर्मा ने सभी विभागों के प्रतिनिधियों का स्वागत करते हुए बैठक में उपस्थित बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों तथा बाल संरक्षण से संबंधित विभिन्न विभागों को रेंज स्तर पर संचालित किए जा रहे सामुदायिक पुलिस कार्यक्रम के बारे में बताया। कार्यशाला में बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों को थाना स्तर तथा बीट स्तर पर प्रभावी रूप से बाल संरक्षण तथा सामदुायिक पुलिस व्यवस्था को सुदृढ़ करने के गतिविधियों के संचालन के निर्देश दिए। 
 

बाल संरक्षण सलाहकार बिनुजीत ने जिला स्तरीय अधिकारियों को रेंज स्तर पर संचालित कार्यक्रमों तथा गतिविधियों की जानकारी दी गई। उन्होंने पुलिस विभाग के बाल कल्याण पुलिस अधिकारियों को संबोधित करते हुए कार्यक्रम अर्न्तगत प्रस्तावित गतिविधियों जैसे वत्सल वार्ताओं, स्टूडेंट पुलिस कैडेट्स योजना, पंचायत स्तरीय बाल संरक्षण समितियों के सक्रिय संचालन, पुलिस युवा मित्रों के गठन तथा सीएलजी सदस्यों के क्षमतावर्धन की गतिविधियों को रेंज कार्यालय के निर्देषों के अनुसार संचालित करने के लिए प्रक्रियाओं तथा रिपोर्टिंग के बारे में बताया। मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी मणिलाल छगन ने बैठक में उपस्थित ब्लॉक स्तरीय शिक्षा अधिकारियों को विद्यालय स्तर पर पुलिस विभाग के सहयोग से आयोजित करने के निर्देष दिए। 
 

बैठक में बाल कल्याण समिति के शांतिलाल चौबीसा ने पुलिस विभाग द्वारा बच्चों के मामलों में संवदेनशीलता से कार्य करने की जानकारी दी। जिले में समिति, स्वयं सेवी संस्थाओं तथा विभागों का समन्वय है। बैठक में बाल कल्याण समिति, गृहों के प्रभारी तथा विभागों ने बाल संरक्षण के लिए समस्याओं तथा सुझावों पर चर्चा की गई। बैठक में बाल कल्याण अधिकारियों ने विशेष किशोर पुलिस इकाइयों तथा बाल संरक्षण के लिए किए गए कार्यों की रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। बाल संरक्षण के लिए कार्यरत विभिन्न सस्ंथााओं ने जिले में किए जा रहे कार्यो के बारे में जानकारी दी। 
बाल संरक्षण सलाहकार ने बैठक के दौरान विभागोें तथा संस्थाओं द्वारा प्राप्त समस्याओं को जिला कलक्टर तथा पुलिस अधीक्षक से साझा किया। बैठक में जिले के सभी पुलिस थानों के बाल कल्याण पुलिस अधिकारीगण, ब्लॉक शिक्षा अधिकारीगण, बाल कल्याण समिति, चाईल्ड लाईन बांसवाडा तथा कार्यक्रम के आकाश उपाध्याय उपस्थित थे।



Fun Festival

×
Hello Banswara Open in App