वसंत पंचमी

Updated on February 10, 2019
वसंत पंचमी, Banswara "Vasant Panchami"
  • 10-02-2019

वसंत पंचमी या श्रीपंचमी एक हिन्दू त्योहार है। इस दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है। यह पूजा पूर्वी भारत, पश्चिमोत्तर बांग्लादेश, नेपाल और कई राष्ट्रों में बड़े उल्लास से मनायी जाती है। इस दिन स्त्रियाँ पीले वस्त्र धारण करती हैं।

प्राचीन भारत और नेपाल में पूरे साल को जिन छह मौसमों में बाँटा जाता था उनमें वसंत लोगों का सबसे मनचाहा मौसम था। जब फूलों पर बहार आ जाती, खेतों में सरसों का सोना चमकने लगता, जौ और गेहूँ की बालियाँ खिलने लगतीं, आमों के पेड़ों पर बौर आ जाता और हर तरफ़ रंग-बिरंगी तितलियाँ मँडराने लगतीं। वसंत ऋतु का स्वागत करने के लिए माघ महीने के पाँचवे दिन एक बड़ा जश्न मनाया जाता था जिसमें विष्णु और कामदेव की पूजा होती, यह वसंत पंचमी का त्यौहार कहलाता था। शास्त्रों में बसंत पंचमी को ऋषि पंचमी से उल्लेखित किया गया है, तो पुराणों-शास्त्रों तथा अनेक काव्यग्रंथों में भी अलग-अलग ढंग से इसका चित्रण मिलता है।

April, 2019
SMTWTFS
31
1
2
3
4
5
6
7
8
9
10
11
12
13
14
15
16
17
18
19
20
21
22
23
24
25
26
27
28
29
30
1
2
3
4

पृथ्वी दिवस पर पुकार और ड्रीम बिग स्कूल बाँसवाड़ा के सहभागिता में होगा पोधारोपण

20-04-2019

10 करोड़ की लागत से बना रहा पुल का कार्य कछुआ गति से भी हो रहा कम

20-04-2019

दुकान पर सामान ले रही युवती को किया अगवा, गुजरात ले जाकर की ज्यादती

20-04-2019

बाइक सवार युवक की गर्दन कटी, 12 टांके आए, एमजीएच में भर्ती

20-04-2019

राधा कृष्ण मंदिर परिसर में राधा कृष्ण मंदिर विकास एवं सेवा समिति की बैठक का आयोजन किया

20-04-2019

50 कट्टे महुआ फूल से भरा ट्रक पकड़ा

20-04-2019

लोकसभा चुनाव : पहले चरण की रिपोर्ट में कम खर्चा बताने पर भाजपा, कांग्रेस व बीटीपी के प्रत्याशी को जारी किया नोटिस

20-04-2019

कलक्टर ने किया निर्वाचन निर्देशिका का विमोचन, मददगार साबित होगी निर्वाचन निर्देशिका: जिला कलक्टर

20-04-2019