Home News Business Covid-19

नाबालिग के परिजनों का पता लगाने सीडब्ल्यूसी ने एसपी काे लिखा पत्र

Banswara
नाबालिग के परिजनों का पता लगाने सीडब्ल्यूसी ने एसपी काे लिखा पत्र
@HelloBanswara - Banswara -

एमजी अस्पताल में 6 माह से भर्ती है अज्ञात नाबालिग
उसके परिवार का काेई पता नहीं है। वह अस्पताल में कैसे पहुंची, उसने किसने भर्ती कराया, यह जांच का विषय है। पत्र में बालिका के संबंध में किसी भी प्रकार की सूचना पुलिस अाेर अस्पताल प्रशासन की अाेर से समिति काे नहीं देना भी विधिसंवत नहीं हाेना बताया है। समिति अध्यक्ष ने अाॅपरेशन मिलाप-1 अभियान का जिक्र करते हुए सक्षम अनुसंधान अधिकारी के जरिये जांच करवाकर बालिका के परिजनाें का पता लगाने अाग्रह किया है ताकि बालिका के पुनर्वास की प्रक्रिया पूरी हाे सके। गाैरतलब है कि समिति काे शनिवार काे सूचना मिली थी कि एमजी अस्पताल में लंबे समय से काेई अज्ञात नाबालिग भर्ती है। जिस पर समिति सदस्याें ने पहुंचकर जानकारी ली ताे सामने अाया था कि बालिका लंबे समय से अस्पताल में ही रह रही है लेकिन वह कैसे अाई अाैर उसके काैन लाया इसका पता नहीं चल पाया।

बांसवाड़ा। एमजी अस्पताल में लंबे समय से भर्ती अज्ञात नाबालिग के परिजनाें का पता लगवाने के लिए बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) ने एसपी काे पत्र लिखा है।
समिति अध्यक्ष ने एसपी काे लिखे पत्र में बताया कि बालिका अस्पताल में लंबे समय से भर्ती है। वह कहा की रहने वाली अाैर उसके परिवार का काेई पता नहीं है। वह अस्पताल में कैसे पहुंची, उसने किसने भर्ती कराया, यह जांच का विषय है। पत्र में बालिका के संबंध में किसी भी प्रकार की सूचना पुलिस अाेर अस्पताल प्रशासन की अाेर से समिति काे नहीं देना भी विधिसंवत नहीं हाेना बताया है। समिति अध्यक्ष ने अाॅपरेशन मिलाप-1 अभियान का जिक्र करते हुए सक्षम अनुसंधान अधिकारी के जरिये जांच करवाकर बालिका के परिजनाें का पता लगाने अाग्रह किया है ताकि बालिका के पुनर्वास की प्रक्रिया पूरी हाे सके। गाैरतलब है कि समिति काे शनिवार काे सूचना मिली थी कि एमजी अस्पताल में लंबे समय से काेई अज्ञात नाबालिग भर्ती है। जिस पर समिति सदस्याें ने पहुंचकर जानकारी ली ताे सामने अाया था कि बालिका लंबे समय से अस्पताल में ही रह रही है लेकिन वह कैसे अाई अाैर उसके काैन लाया इसका पता नहीं चल पाया।

शेयर करे

More article

Search
×